Jo Log Mohbbat Ka Ijhar Nhi Krte

Jo Log Mohbbat Ka Ijhar Nhi Krte

अच्छा करते हैं वो लोग जो मोहब्बत का इज़हार नहीं करते… ख़ामोशी से मर जाते हैं मगर किसी को बदनाम नहीं करते.।।
achha krte he vo log jo mohbbat ka ijhar nhi krte ….khamoshi se mr jate he magr kisi ko badnam nhi krte ||
Jo Log Mohbbat Ka Ijhar Nhi Krte
Jo Log Mohbbat Ka Ijhar Nhi Krte
मैं कभी किसी को अपने दिल से दुर नही करता, बस जीनका दिल भर जाता है वो मुज से दुर हो जाते हैँ।
me kabhi kisi ko apne dil se door nhi krta, bs jinka dil bhr jata he vo mujh se se door ho jate he 
तुझसे अच्छे तो जख्म हैं मेरे । उतनी ही तकलीफ देते हैं जितनी बर्दास्त कर सकूँ ।।
tujhse achhe to jkhm he mere | utni hi taklif dete he jitni brdast kar skoon

Leave a Comment